टॉयलेट में न ले जाएं मोबाइल, नहीं तो पड़ेगा पछताना

टॉयलेट में पहले पेपर, मैगज़ीन ले जाकर फ़ुरसत से बैठने की आदत की जगह आजकल मोबाइल के साथ टाइम पास ने ले ली है। कई बार तो ऐसा भी होता है कि मोबाइल पर सोशल मीडिया, खबरों और वीडियो गेम खेलते हुए पता भी नहीं चलता कि किसी ने कितना वक्त टॉयलेट में गुजार दिया […]

0Shares
Continue Reading

नए कानून से कहां आई बेरोजगारी और क्यों

यह चंद उदाहरण है। जिन्होंने कई माह पहले ड्राइविंग लाइसेंस के लिए आवेदन किया। किसी का डीएल नवीनीकरण का आवेदन था, किसी ने पता बदलवाने के लिए आवेदन किया था। किसी ने अस्थाई डीएल को स्थाई डीएल के लिए आवेदन किया। सभी आवेदकों ने आरटीओ कार्यालय जाकर औपचारिकताएं पूरी की। आश्वासन दिया गया कि दस […]

0Shares
Continue Reading

झुकने और टेढ़े होने से भी टूट सकती हैं हड्डियां, बचाव के ये हैं उपाय

ऑस्टियोपोरोसिस के लक्षणों पर ध्यान न देना बेहद खतरनाक हो सकता है। लंबे समय से इस बीमारी से पीड़ित एक 62 वर्षीय महिला की रास्ते में लड़खड़ाने से कूल्हे की हड्डी टूट गई। डॉक्टरों का कहना है कि ऑस्टियोपोरोसिस में स्थिति इस कदर बिगड़ सकती है कि हल्के से टेढ़े होने से भी लोगों की […]

0Shares
Continue Reading

थोड़ा-थोड़ा हंसना जरूर चाहिए… 100 रोगों की एक दवा, आप भी आजमाइये

हंसना, मुस्कुराना एक ऐसी भावना है जो इंसान के अलावा किसी अन्य प्राणि के नसीब में नहीं आई है।  खास बात यह है कि खुशी सौ रोगों की एक दवा है। यही वजह है कि आजकल महानगरों में भी लॉफ्टर क्लबों की संख्या में दिनोंदिन इज़ाफा होता जा रहा है। दुनिया भर में अब मई […]

0Shares
Continue Reading

कोर्ट का अहम आदेश, अनुकंपा के आधार पर नौकरी पाना अधिकार नहीं

कर्मचारी की मौत के बाद सरकार को उनके परिजनों की मदद करना चाहिए ताकि उन्हें भुखमरी की स्थिति से बचाया जा सके। केंद्रीय प्रशासनिक न्यायाधिकरण ने नीति आयोग से एक युवक को अनुकंपा के आधार पर नौकरी देने पर विचार करने का आदेश देते हुए यह टिप्पणी की है। हालांकि, न्यायाधिकरण ने फैसले में यह […]

0Shares
Continue Reading

तनाव में ज्यादा खाने के क्या हैं कारण, कैसे बचें इससे

पश्चिमी देशों में मक्खन या दूध के साथ मैश किए हुए उबले आलू रोजमर्रा के खानपान का हिस्सा हैं। नोरा एफ्रॉन ने 1986 के अपने बहुचर्चित उपन्यास हार्टबर्न में लिखा है, ‘‘जब आप डिप्रेशन में हों तो अच्छी तरह मैश किए हुए उबले आलुओं के भरपूर सेवन से बेहतर कुछ नहीं। निश्चित ही आप आलू […]

0Shares
Continue Reading

स्त्री बुद्ध के समय प्रथम प्रचारक बनी और पुरुषों के साथ कदमताल करते हुए न जाने कितने देशों की यात्रा की.

–सोनाली मिश्रा स्त्री बुद्ध के समय प्रथम प्रचारक बनी. पुरुषों के साथ कदमताल करते हुए न जाने कितने देशों की यात्रा की. अपने बुद्ध का सन्देश लेकर गयी. उससे पहले सूर्या सावित्री ने रचे थे विवाह के सूक्त! हमने स्त्री के ब्रह्मचारिणी रूप की भी पूजा की. स्त्री शक्ति थी. उस शक्ति को सनातन ने […]

0Shares
Continue Reading

वृद्धों की अधिक संख्या समाज को बनाती है धार्मिक : शोध

एक शोध के अनुसार, जैसे-जैसे देश में वृद्धों के अनुपात में बढ़ोतरी होती जाती है, समाज के धार्मिक होने की संभावना उतनी ही बढ़ती जाती है। वृद्धों का ईश्वर के प्रति झुकाव काफी ज्यादा होता है, और अपने इस भरोसे और धर्म को वे अपने बच्चों में संचारित करते हैं। शोध के अनुसार, जनसंख्या में […]

0Shares
Continue Reading

आयुर्वेद टिप्स: बारिश के मौसम में फिट रहने के लिए ऐसा हो खानपान

गर्मी के महीने बीतने के बाद मानसून एक ताजी हवा के झोंके की तरह आता है। कई लोगों के लिए तो यह वर्ष का सबसे अच्छा और आनंदित करने वाला समय होता है। लेकिन कुछ ऐसे जीव मानसून को पसंद करते हैं और इस मौसम में पनपते हैं, जो इंसान की सेहत के लिए सही […]

0Shares
Continue Reading

अखिलेश ने कहा, डबल इंजन वाली सरकार चल रही है बैलगाड़ी की रफ्तार में

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि डबल इंजन वाली बैलगाड़ी की रफ्तार में चल रही हैं। प्रदेश में अराजकता, लूटपाट और असुरक्षा का माहौल है। शिक्षा और स्वास्थ्य में प्रदेश पिछड़ गया है। अखिलेश ने कहा कि ओडीएफ के आंकड़े झूठे, बलिया में मानक घटाए गए हैं। एक्सप्रेस वे […]

0Shares
Continue Reading