प्रणीत श्रीवास्तव हनी का पोलिटिकल ‘मास्टर स्ट्रोक’ ?

@अरविंद सिंह आप इस सियासी परिघटना को कैसे देखते हैं, यह आप और आप की दृष्टि पर निर्भर करता है लेकिन मेरे जैसे लोग इसे राजनीतिक से ज्यादा कुटनीतिक और उससे भी अधिक सामयिक ज्यादा देखते कि- ‘नगर पालिका परिषद आजमगढ़ की चेयरमैन शीला श्रीवास्तव और पूर्व चेयरमैन स्व०गिरीशचंद्र श्रीवास्तव की संतान प्रणीत श्रीवास्तव हनी […]

0Shares
Continue Reading

बैंक हड़ताल आज, मगर SBI और IOB के ग्राहकों के लिए अच्छी खबर

एआईबीईए और बीईएफआई के आह्वान पर आज यानी मंगलवार को बैंक हड़ताल है। देश भर में बैंकों के विलय को रोकने, बैंककर्मियों की सुरक्षा पुख्ता और सभी बैंकों में समुचित भर्ती जैसी मांगों को लेकर आज यानी 22 अक्टूबर को बैंक हड़ताल होने जा रही है। लेकिन हड़ताल होने से पहले ही कर्मचारी संगठन गुटों में बंट […]

0Shares
Continue Reading

क्या हम अब भी साथ चलेंगे

भारत और  चीन के रिश्तों में आई हालिया स्थिरता ने मानो पूर्व के अशांत दौर की यादें मिटा दी है। देखा जाए, तो साल 2014 से 2017 के बीच हमने आपसी संबंधों में जो तनाव, कड़वाहट और अविश्वास देखा था, वह दरअसल चीन की नीतियों और इरादों को लेकर बढ़ती अनिश्चितता का नतीजा था। वह […]

0Shares
Continue Reading

अस्सी साल से उलझी एक गुत्थी

कौन थी वह रहस्यमयी, गौरांगी, एकांतवासिनी महिला, जो इलाहाबाद शहर के बाहरी इलाके में एक फ्लैट लेकर अकेली रह रही थी और जिस पर उत्तर प्रदेश पुलिस की सीआईडी नजर रखे हुए थी? सीआईडी के दस्तावेजों में उसे ‘मिस्टीरियस लेडी ऑफ द फ्लैट’ यानी फ्लैट वाली रहस्यमयी महिला के रूप में दर्ज किया गया था। […]

0Shares
Continue Reading

भारत में ये है इंटरनेट यूजर का आंकड़ा

देश और दुनिया में बढ़ती तकनीक के आयामों के बीच एक रिपोर्ट आई है, जिसमें बताया गया है कि भारत में सिर्फ 36 फीसद लोग ही इंटरनेट का प्रयोग कर रहे हैं। यह आंकड़ा भौंचक्का कर देने वाला इसलिए भी लग रहा है क्योंकि आजकल लगभग हर व्यक्ति के हाथ में स्मार्टफोन दिख जाता है। […]

0Shares
Continue Reading

सहर खोड़यारी की आत्महत्या के बाद झुका ईरान

-Ajay Srivastava सहर खोड़यारी ने मात्र 29 साल की उम्र में अपनी इहलीला समाप्त कर ली।वो एक आम लड़की की तरह फुटबॉल प्रेमी थी और वह स्टेडियम में जाकर मैच देखना चाहती थी, मगर ईरान की दकयानूसी कानून एक महिला को स्टेडियम में जाकर पुरूषों के मौजूदगी में फुटबॉल देखने की इजाजत नहीं देता।उसने के […]

0Shares
Continue Reading

देश प्रेमियों के लिए खुले हैं संगठन के दरवाजे- विजेंद्र

-सूरज जायसवाल महाराणा प्रताप सेवा समिति संगठन की बैठक संपन्न महाराणा प्रताप सेवा समिति के प्रमुख व समाजसेवी विजेंद्र सिंह ने कहा कि उनके संगठन का द्वार देश प्रेमियों के लिए हमेशा खुले रहेंगे। उन्होंने कहा कि देश के कई वीर सपूतों के साथ महाराणा प्रताप ने भी देश के लिए अपने प्राणों की आहुति […]

0Shares
Continue Reading

‘वंदे भारत’ से जम्मू-कश्मीर का ‘पुरसा हाल’

यात्रा संस्मरण –जयशंकर गुप्त तकरीबन दो दिनों के एकाकी, बाहरी दुनिया से कटे रहने जैसे कटरा (जम्मू) प्रवास के बाद पांच अक्टूबर, शनिवार की सुबह 11बजे ‘श्रीशक्ति एक्सप्रेस’ से दिल्ली लौट आया। गये थे दो दिन पहले, तीन अक्टूबर की सुबह 10.25 बजे कटरा के लिए शुरू हुई हाई स्पीड ट्रेन ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ की […]

0Shares
Continue Reading

वह बस एक नफरत भरा भाषण है

ऐसे कुख्यात शब्द सुने अरसा हो गया था। वर्ष 1956 में सोवियत प्रधानमंत्री निकिता ख्रुश्चेव ने पश्चिमी देशों को धमकाया था, ‘हम आपको दफ्ना देंगे।’ लेकिन इसके बाद दुनिया के नेताओं ने किसी देश को अपने परमाणु हथियारों के जोर पर ऐसी धमकी देते नहीं सुना था। इतिहास गवाह है, लगभग 63 साल पहले ख्रुश्चेव […]

0Shares
Continue Reading

महात्मा गांधी और उनकी पत्रकारिता

–कुमार कृष्णन महात्मा गांधीजी ने यह सिद्ध कर दिया था कि शैली का अपना महत्व होता है और उनका लेखन प्रचलित लेखन से पूरी तरह भिन्न था। उनकी अंग्रेजी प्रामाणिक थी और वे किसी संदर्भ विशेष में सटीक शब्दों का इस्तेमाल करने के प्रति अत्यंत सजग रहते थे। उनके वाक्य सरल और सुबोध होते थे। […]

0Shares
Continue Reading