पत्रकार हत्या : हिजड़ों के बीच मर्दानगिनी मूर्खता कहलाएगी?

Cinema India News

रंजीत यादव की फेसबुक वाल से

यूपी के सहारनपुर में दिनदहाड़े शराब तस्कर ने पत्रकार और उनके भाई की गोली मारकर हत्या कर डाली हत्या के बाद गुस्साए लोगों ने हंगामा किया तो पुलिस ने लाठीचार्ज भी किया. मोहल्ले वालों का आरोप है कि कई बार पुलिस से शिकायत करने के बाद भी पर पुलिस ने सुध नहीं ली
महाराज दारू और बोटी खाने वाली पुलिस अगर सक्रिय हुई होती तो सम्भवतः आज दोनो भाई ज़िंदा होते पर पुलिस की रोटी पत्रकार के सहयोग से नहीं शराबी के नसीब से चलती है जितनी बिक्री उतनी कमाई होती है ये जग ज़ाहिर हैै।
पत्रकार तो पैदा ही होता है मरने के लिए…मरो स …! जब तक तुम लोग एक नहीं होगे विरोध नहीं करोगे तब तक पागल कुत्तों की भाँति मारे जाते रहोगे फिर परिवार असहाय मजबूर होकर रोड पर भीख माँगेगा, संस्थाएँ कोई मददगार न होंगी …
मेरा सवाल पत्रकारों से –
तस्करों के द्वारा ज़हरीली शराब आप के परिजन पीते हैं क्या ?
ज़हरीली शराब का विरोध आमजन करती है क्या ?
पुलिस व्यवस्था शराब तस्करी के विरोध मे है क्या ?
अगर हाँ तो आपकी मौत पर मुझे दुःख होगा -आप सहित और लोग भी मरेंगे तो शोक मनायेंगे, अगर ये सभी विरोध नहीं करते सिर्फ़ आप करते हैं तो आप मूर्ख हैं अपनी मूर्खता की सज़ा अपने मासूमों सहित पूरे परिजनों को दे रहे हैं क्यों की आपके मरने के बाद कोई हाल तक न पूछेगा
ये दुनिया सिर्फ़ ख़ुद का भला देखती है इस लिए जैसा देश वैसा भेष बना कर चलें ज़िंदा रहेंगे तभी परिजन ख़ुश रहेंगे
हिजड़ों के बीच मर्दानगिनी मूर्खता कहलाएगी। दुखद-ईश्वर इनकी आत्मा को शांति दे व इस दुःख की घड़ी मे परिजनों को सहन करने की हिम्मत दे।

मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की मुख्यमंत्री की घोषणा 

 इस घटना पर मुख्यमंत्री MYogiAdityanath ने जनपद सहारनपुर में दैनिक जागरण समाचार पत्र के पत्रकार आशीष कुमार तथा उनके भाई अशुतोष की हत्या की घटना का संज्ञान लेते हुए सहारनपुर के एसएसपी को दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।

मुख्यमंत्री जी ने दिवंगत आत्मा की शांति की कामना करते हुए शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त की है। साथ ही मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दिए जाने की घोषणा भी की है।

0Shares

243total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *