राज्यपाल ने किया कुमार निर्मलेन्दु की मगधनामा का लोकार्पण

Bihar culture Literature

जब हिन्दुस्तान युनानियों, सिथियनों,चर्वरों आदि वैदेशिक आक्रमणों से टूट रहा था तो मगध से निकली सेना ने टूटते और बिखरते हिन्दुस्तानी की धरती को बचाया और विदेशी हमलावरों को मार भगाया। यह हिन्दुस्तान के राजनीतिक इतिहास और सैनिक क्षमता की कहानी थी। यह एक तरह से स्वर्ण काल था। इतिहास और उसके समकालीन घटनाओं तथा परिस्थितियों का सजीव चित्रण है ‘मगधनामा’ । मगधनामा एक किताब भर नहीं है बल्कि मगध साम्राज्य का जीवंत दस्तावेज है, जिसका लोकार्पण बिहार राज्य के राज्यपाल फागू चौहान ने किया। लेखक बिहार के शेखपुरा के कुमार निर्मलेन्दु हैं।443पृष्ठों की इस किताब को राजभवन में लोकार्पण करते हुए राज्यपाल ने कहा कि मगध साम्राज्य के गौरवशाली इतिहास को प्रमाणिकता और रोचकता के साथ इस किताब में दिया गया है।इस अवसर पर ब्रजकिशोर पांडेय, युगेश्वर प्रसाद सिंह, शिवकुमार राय,रामनाथ पांडेय सहित अन्य साहित्यकार उपस्थित थे।

अमरजीत राय

0Shares

215total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *