केसर की घाटी में सबकुछ अच्छा लिखना होगा…

India News Jammu and Kashmir Literature

अच्छा लिखना होगा…?

केसर की घाटी में सब कुछ अच्छा लिखना होगा।
बन्दूकों को ही किताब का बस्ता लिखना होगा।

आँसू को आँसू लिखना अपराध द्रोह जैसा है,
आँसू को भी अब खुशियों की गंगा लिखना होगा।

आना जाना ना मुमकिन है बात नहीं हो सकती,
वो जो कहें उसी को सच का चिठ्ठा लिखना होगा।

मजनू, राँझा और रोमियो के बारे में हर दिन,
लव जेहादी कह लम्पट आवारा लिखना होगा।

अमन चैन से अपने घर में भी जीने के खातिर,
उनको सूरज दूतों को भी तारा लिखना होगा।

पुरस्कार के लिए जरूरी है आँखें मटकाकर,
बाजों को भी मछली का रखवाला लिखना होगा।

लगा पढ़ाने तोता सबको आजादी का मतलब,
आजादी के लिए हमें भी सच्चा लिखना होगा।

केसर की घाटी में सबकुछ —

धीरेन्द्र नाथ श्रीवास्तव
सम्पादक
राष्ट्रपुरुष चन्द्रशेखर – सन्सद में दो टूक
लोकबन्धु राजनारायण – विचार पथ एक
अभी उम्मीद ज़िन्दा है

0Shares

79total visits,3visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *