अनुज ने मार्शल आर्ट में दो साल में जीते चार स्वर्ण, पिता चट्टे में करते हैं मजदूरी

Lucknow

अभावों में पले बढ़े अनुज कुमार ने महज दो साल के अभ्यास में मार्शल आर्ट में चार स्वर्ण समेत सात पदक अपने नाम किए हैं। 14 साल के अनुज कुमार बेहद ही गरीब परिवार से ताल्लुक रखते हैं। पिता एक चट्टे में मजदूरी करते हैं। इसके बाद भी अनुज ने अंतरराष्ट्रीय स्तर तक की प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर यह साबित कर दिया कि इरादे बुलंद हों तो कोई बाधा आपको डिगा नहीं सकती।

कानपुर के केशवपुरम आवास विकास निवासी अनुज ने भूटान में तीन व चार अगस्त को हुई चौथी ऑफ किडो बॉक्सिंग अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिता में स्वर्ण पदक जीतकर शहर का नाम रोशन किया है। ‘ऑफ किडो बॉक्सिंग’ कराटे और बॉक्सिंग का मिलाजुला खेल है।

अनुज घर के पास स्थित निजी स्कूल में आठवीं का छात्र है। अनुज ने बताया कि जून 2017 में विद्यालय में समर कैंप हुआ था, उसमें मार्शल आर्ट सीखने गया था। तभी से उसकी इस खेल के प्रति रुचि बढ़ी और उसने कल्याणपुर स्थित एक क्लब में प्रशिक्षक आजाद सिंह से प्रशिक्षण लेना शुरू कर दिया।

0Shares

40total visits,1visits today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *