प्रेस एसोसिएशन के लगातार दूसरी बार अध्यक्ष चुने गए वरिष्ठ पत्रकार जयशंकर गुप्त

@अरविंद सिंह देश के सबसे पुराने पत्रकार संगठन ‘प्रेस एसोसिएशन’ के संपन्न हुए चुनाव में लगातार दूसरी बार शानदार विजय प्राप्त कर फिर चेयरमैन चुने गएं जयशंकर गुप्त। इसके पूर्व वह प्रेस क्लब आफ इंडिया के भी सम्मानित वरिष्ठ सदस्य हैं। बताते चले की समाजवादी जमीन से निकले जयशंकर गुप्त देश की पत्रकारिता का जाना-माना […]

0Shares
Continue Reading

कई-कई रङ्गों के चश्मे लेकर चलते हैं हम…

-संत समीर कल बधाई दे चुका, पर आज मैग्सेसे की चयन समिति को शाबाशी देने का मन कर रहा है कि उसने भारतीय इलेक्ट्रॉनिक मीडिया (प्रिण्ट मीडिया के बारे में सोचना पड़ेगा) के हिसाब से आज की तारीख़ में रवीश कुमार के रूप में सबसे बेहतर चयन किया है। रवीश जी से अपना तथाकथित परिचय […]

0Shares
Continue Reading

वो मेरे कुलीन ब्राह्मण ! तुम्हारा अधिकार है कि तुम किसी म्लेच्छ के हाथ का छुआ खाना त्याग दो..

–कुमार रमेश तुमने जो किया वो कोई नई बात नही है, हजारों साल से इस महान राष्ट्र की नसों में बह रहा.दोगलापन तो हमलोगों के जीन में है.दलित आपके खेत मे काम करेगा. गेहूं बोयेगा, धान रोपेगा, निराई-गुड़ाई करेगा, काट लाएगा, आपके ओसारे में रख देगा तबतक उस दलित का छूत आपके धान-गेहूं-आलू प्याज में […]

0Shares
Continue Reading

मेरी पृष्ठभूमि के किरदार…

सौगात सा होता है अपनों का आना– ये मेरी पृष्ठभूमि के किरदार हैं। –From Amrendra Kishore Facebook’s wall नौशाद अहमद नहीं नौशाद भाई। पूरे शहर में इसी भाई के नाम से इन्हें तवज़्ज़ो दी जाती है। पेशे से फोटोग्राफर। और फोटोग्राफी के जरिये दिल में पैठ बनाने में माहिर नौशाद भाई। ब्लैक एंड व्हाइट के […]

0Shares
Continue Reading

खेत खाय गदहा- मारल जाय जोलहा

चमकी बुखार किसे आ रहा है ?  जो बच्चे कुपोषण और भूख के शिकार हैं। इसके लिए जिम्मेदार कौन हैं? जिनके हाथ में सूबे और केंद्र का निजाम है या रहा है। और ठुमुक ठुमुक कर पूछा किससे गया? आई सी यू से, डॉक्टरों से। कबीर दास ने कहा है या नहीं कहा है, मैं […]

0Shares
Continue Reading