कश्मीर पर जनता की एकजुटता का प्रदर्शन सरकार को मंजूर नहीं, किया नज़रबंद- रिहाई मंच

लोकतांत्रिक आवाजों को किया जा रहा है नजरबंद लखनऊ । कश्मीर के लोगों के साथ एकजुटता जताने के लिए आयोजित कार्यक्रम से ठीक पहले इसके दो प्रमुख आयोजकों पर कार्य्रकम रद्द करने के लिए पुलिसिया दबाव बनाये जाने को लेकर रिहाई मंच ने कड़ी निंदा की है। कहा कि यह लोकतांत्रिक आवाजों पर बढ़ रहे […]

0Shares
Continue Reading

नज़रिया : सोशल मीडिया पर कैसी कैसी बहसे चल रहीं हैं धारा 370 पर

-दयानंद पांडेय की कलम से मैं डंके की चोट पर देशभक्त हूं , समझता हूं कि आप सभी हैं । सेक्यूलर होना ज़रूर आज की तारीख में गाली हो गया है । सिर्फ़ , भारत में ही नहीं , पूरी दुनिया में । अमरीका , चीन , फ़्रांस जैसे देशों ने इस्लामिक आतंकवाद के मद्देनज़र […]

0Shares
Continue Reading

केसर की घाटी में सबकुछ अच्छा लिखना होगा…

अच्छा लिखना होगा…? केसर की घाटी में सब कुछ अच्छा लिखना होगा।बन्दूकों को ही किताब का बस्ता लिखना होगा। आँसू को आँसू लिखना अपराध द्रोह जैसा है,आँसू को भी अब खुशियों की गंगा लिखना होगा। आना जाना ना मुमकिन है बात नहीं हो सकती,वो जो कहें उसी को सच का चिठ्ठा लिखना होगा। मजनू, राँझा […]

0Shares
Continue Reading

POK गिलगित-बाल्टिस्तान पर बातें कब होगीं?

सोशल मीडिया वास्तव में अगर जम्मू कश्मीर के बारे में बातचीत करने की जरूरत है तो वह है POK और अक्साई चीन के बारे मेंl इसके ऊपर देश में चर्चा होनी चाहिए गिलगित जो अभी POK नमें है विश्व में एकमात्र ऐसा स्थान है जो कि 5 देशों से जुड़ा हुआ है अफगानिस्तान, तजाकिस्तान(जो कभी […]

0Shares
Continue Reading

डोभाल के वीडियो पर बोले गुलाम नबी आजाद- पैसे देकर किसी को भी साथ ला सकते हो

SHARPREPORTER DESK जम्मू-कश्मीर को केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने और धारा 370 को कमजोर करने का कांग्रेस पार्टी ने विरोध किया है. राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने इस विरोध की अगुवाई की है. इस बीच गुलाम नबी आजाद आज श्रीनगर दौरे पर जा सकते हैं, जहां पर वह कांग्रेस नेताओं के […]

0Shares
Continue Reading

सबका दुश्मन एक – नेहरू

–Ashok kumar panday‘कश्मीरनामा के लेखक’ इतिहास के तमाम पर्सेप्शंस में से एक यह है कि नेहरू कश्मीर को लेकर ऑबसेशन के शिकार थे. असल में 1947 में भी और उसके बाद भी पश्चिम मानता रहा है कि कश्मीर पर पाकिस्तान का स्वाभाविक अधिकार था और नेहरू के चलते ऐसा नहीं हो पाया. याद कीजिये गिलगिट […]

0Shares
Continue Reading

तो क्या अब जम्मू कश्मीर के बाद POK है अमित शाह का अगला लक्ष्य

–अतुलमोहन सिंह जम्मू-कश्मीर को अनुच्छेद 370 के तहत मिले विशेषाधिकारों को अब हटा दिया गया है। लोकसभा में धारा-370 हटाने को लेकर अमित शाह ने बिल पेश किया। अमित शाह ने कश्मीर पर बोलते हुए कहा कि मैं जब जम्मू कश्मीर बोलता हूं उसमें POK भी शामिल है। अमित शाह की बातों से साफ है […]

0Shares
Continue Reading

भाजपा जिस तरह धारा ३७० के खात्मे को सामूहिक विजयोल्लास का स्वरूप दे रही है, वह पूरी तरह राजनीतिक है

-वरिष्ठ पत्रकार/संपादक सुभाष राय के फेसबुक वाल से कश्मीर के मशहूर कवि अग्निशेखर ने आज लिखा है कि यह एक युगांतरकारी घटना है। धारा ३७० खत्म होने के साथ ही जम्मू-कश्मीर में अलगाववादी वर्चस्व समाप्त हो गया है। पाकिस्तान में जिस तरह की बेचैनी है, उसे देखते हुए अग्निशेखर की बात कुछ हद तक ठीक […]

0Shares
Continue Reading

इतिहास तो बना दिया गया लेकिन जहाँ इतिहास बना है, वहाँ ख़ामोशी है…

-Ravish kumar कश्मीर ताले में बंद है। कश्मीर की कोई ख़बर नहीं है। शेष भारत में कश्मीर को लेकर जश्न है। शेष भारत को कश्मीर की ख़बर से मतलब नहीं है। एक का दरवाज़ा बंद कर दिया गया है। एक ने दरवाज़ा बंद कर लिया है। जम्मू कश्मीर और लद्दाख का पुनर्गठन विधेयक पेश होता […]

0Shares
Continue Reading

आप जश्न मना रहे हैं क्योंकि आप कश्मीर में नहीं हैं और नहीं कश्मीरी हैं

–सुजाता कर्फ्यू तो नहीं लगा रहेगा। न महबूबा, ओमर, सज्जाद लोन नज़रबन्द रहेंगे। फिर? सोचिए जिनका गला घोंट कर आज उनकी तकदीर का फैसला किया गया है उनकी कुछ तो प्रतिक्रिया आएगी ही। सोचिए, वह अवाम जिसे अपने दुखों और कष्टों ने इतना गुस्सा दिया कि बन्दूक के सामने वह बेख़ौफ़ पत्थर उठा ले उसे […]

0Shares
Continue Reading