मैं यूनिफॉर्म सिविल कोड का समर्थन करती हूँ

–सुजाता हिन्दू कोड बिल पर संघ और उसके सहयोगी संगठनों का विरोध सबके समझ में आ रहा था। बहुतायत हिन्दू पुरुष की सबसे बड़ी आपत्ति थी कि यह भेदभावपूर्ण कानून है, भेदभाव मतलब मुसलमानों के ऊपर तो लागू नहीं होने वाला वे चार चार शादियाँ कर सकेंगे। हिन्दू औरतों को सम्पत्ति और तलाक़ के अधिकार […]

0Shares
Continue Reading

जवानी की दहलीज पर बहके कदम

-कुलीना कुमारी/कहानी जवानी की एक गलती या एक गलत कदम किसी इंसान को कितने गर्त में धकेल देते है ये आज मोना को लग रहा था। आज उसे ना चाहते हुए भी मज़बूरी में अपने घर के पास वाले पुलिस स्टेशन में जाना पड़ रहा था, जो कि बमुश्किल 300 कदम पर ही था पर […]

0Shares
Continue Reading

कौन थी अमृता शेरगिल?

आधुनिक भारतीय कला के इतिहास की पहली महिला चित्रकार अमृता शेरगिल की पेण्टिंग पीड़ितों के लिए राहत कोष जुटाने के लिए हुयी नीलामी में सर्वश्रेष्ठ 70 लाख रुपये में नीलाम हुयी। मालूम हो कि महिलाओं की दुर्दशा को कैनवस पर उकेरने में आज तक अमृता का कोई सानी नहीं रहा।(-अमित राजपूत के फेसबुक वाल से)  […]

0Shares
Continue Reading

तसलीमा नसरीन और ईद

तसलीमा नसरीन और ईद ⋅ ईद की सुबह स्‍नानघर में घर के सभी लोगो ने बारी-बारी से कोस्‍को साबुन लगा‍कर ठण्डे पानी से गुस्‍ल किया। मुझे नए कपड़े -जूते पहनाए गए, लाल रिबन से बाल से बाल संवारे गए, मेरे बदन पर इत्र लगाकर कान में इत्र का फाहा ठूंस दिया गया। घर के लड़कों […]

0Shares
Continue Reading

वह स्त्री सशक्तीकरण की मिसाल है जिसका होना ही,पितृसत्ता को चुनौती देता है

–सुजाता अपने रास्ते की बाधाओं पर विजय पाकर सशक्त कोई भी स्त्री हो सकती है जो शिक्षित है, आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर है, अकेले अपनी जिम्मेदारियों को निभा रही है। लेकिन जिसकी मजबूरी हो कि उसे मालिक की कृपा पाने के लिए कोई भी अभद्र, अनैतिक काम करना पड़े उसे कैसे मिसाल मानें ? स्त्री […]

0Shares
Continue Reading

सुषमा: एक अद्भुत वक्ता और सशक्त नेत्री का यूं चले जाना…?

एक समय था जब मैं भाजपा में अटल जी के बाद सुषमा स्वराज में ही भाजपा और देश का भविष्य देखता था। मेरी पसंदीदा नेता थीं सुषमा जी। उन के जैसी विदुषी , मृदुभाषी और ओजस्वी नेता अब कोई और नहीं। किडनी ट्रांसप्लांट की मुश्किल से गुज़र रहीं , सुषमा जी दिल का दौरा पड़ने […]

0Shares
Continue Reading

मुझे कुछ नया पढने के साथ ही कुछ नया करने की जिज्ञासा हमेशा रही इसी आदत के कारण नए – नए लोगो से मिलना नए स्थानों पे जाना और कुछ नया खोज के लाना अब आदत में शुमार है आइये आज मिलवाता हूँ | राबिया बसरी से —- राबिया बसरी के गीत —- राबिया 713 […]

0Shares
Continue Reading

लखनऊ की ओम कुमारी सिंह नई दिल्ली में वीमेन अचीवर्स अवॉर्ड 2019 से सम्मानित

लखनऊ। राजधानी निवासी पर्यावरण और सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती ओम कुमारी सिंह का नई दिल्ली में शनिवार को सम्मान किया गया। ओम कुमारी सिंह चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन की अध्यक्ष हैं। वह जैव विविधता, पर्यावरण संरक्षण, योग और भारतीय संस्कृति के प्रचार-प्रसार के लिए काम करती हैं। लीगल राइट्स काउंसिल ऑफ इंडिया और सीपीडीएचई दिल्ली विश्वविद्यालय की […]

0Shares
Continue Reading

उन्नाव जैसी अनेक पीड़िताओं को याद करते हुए

  गुंडे बच जाते हैं क्यों कर दुखियारी मर जाती हैकैसा लोकतंत्र है जिसमें इक नारी मर जाती है रौंद रहे हैं अब माली ही फूलों की हर बगिया कोकुचल -कुचल कर फूलों की क्यारी- क्यारी मर जाती है जिससे आग लगा सकते थे हम भी सारे सिस्टम कोलेकिन खुदगर्ज़ों के कारण चिंगारी मर जाती […]

0Shares
Continue Reading

मर्द खुश हैं, देश सर्वे कर रहा है और औरतें बच्‍चा गिराने की गोलियां खा रही हैं…

–Reports by Manish Pandey हम और हमारी सेहत किसी की चिंता का सवाल नहीं. खुद हमारी भी नहीं. कम पढ़ी-लिखी औरतें एमटीपी गोली खा रही हैं और बड़े शहरों-महानगरों की लड़कियां-औरतें आईपिल. लेकिन कोई अपने पुरुष साथी को ये समझा नहीं पा रहा कि तुम्‍हारे सुख की कीमत मेरे लिए कितनी बड़ी है. नेशनल फैमिली […]

0Shares
Continue Reading