सावधान पत्रकार साथियोंं! कोरोना किसी को भी नहीं पहचानता…!

सावधान पत्रकार साथियों सावधान… मध्यप्रदेश में अभी हाल के दिनों में भाजपा की सरकार बनी है. नई सरकार की खबर को कवरेज करने के लिए छत्तीसगढ़ से भी कुछ पत्रकार गए थे. भोपाल में एक पत्रकार कोरोना से पीड़ित था. वहां कोरोना पीड़ित पत्रकार ने शायद कई लोगों से मुलाकात भी की है जिसमें कई […]

0Shares
Continue Reading

गोल्डेन बुक आफ वर्ल्ड  रिकार्ड में शामिल हुआ गीता त्रिपाठी का छत्तीसगढ़ी शिवपुराण

छत्तीसगढ़ की प्रख्यात लेखिका और शिवपुराण को छत्तीसगढ़ में अनुवाद करने वाली साहित्यकार गीता त्रिपाठी शर्मा को छत्तीसगढ़ की राज्यपाल द्वारा आज वर्ल्ड रिकॉर्ड प्रमाण पत्र और मेडल प्रदान किया गया। उन्हें यह सम्मान छत्तीसगढी में अनुवादित शिवमहापुराण के लिए दिया गया। बताते चल़े कि गीता त्रिपाठी की छत्तीसगढ़ी में अनुवादित इस ने कृति ने […]

0Shares
Continue Reading

जब सम्मान स्वयं पहुंचा घर…

माधवराव सप्रेे स्मृति समाचार पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान भोपाल के संस्थापक श्री विजयदत्त श्रीधर भी कमाल के शख्स हैं। वरिष्ठ संपादक रमेश नैयर को भोपाल में ‘कर्मवीर’ सम्मान दिया जाना था। नैयरजी किसी कारणवश भोपाल न जा सके तो आज श्रीधरजी ने खुद रायपुर आकर श्री नैयर को सम्मानित किया। और यह काम उन्होंने […]

0Shares
Continue Reading

एक बोली के विलुप्त होने का मतलब होता है, मानव सभ्यता के सदियों से संचित ज्ञान का विलुप्त हो जाना

विलुप्त हो रही आदिवासी बोली भाषाओं को बचाने हेतु राष्ट्रीय संगोष्ठी संपन्न *”कैसा गजब का युग आ गया है कि , मनुष्य तथा मनुष्यता अब मानव संग्रहालय में संरक्षित की जा रही है,* यह विचार थे इस राष्ट्रीय संगोष्ठी के मुख्य अतिथि की आसंदी से बोल रहे वरिष्ठ लेखक तथा चिंतक प्रोफेसर गिरीश्वर मिश्र के। […]

0Shares
Continue Reading

पद्मश्री दामोदर गणेश बापट नहीं रहे

-गिरीश पंकज कुष्ठ रोगियो की सेवा में जीवन होम करने वाले पद्मश्री दामोदर गणेश बापट नहीं रहे। यह समाचार व्यक्तिगत तौर पर पीड़ा से भर गया । मैं बापट जी को पिछले 45 साल से जानता था । बिलासपुर में रहकर जब युगधर्म अखबार के रिपोर्टर के रूप में मैंने अपना काम शुरू किया, तभी […]

0Shares
Continue Reading

छत्‍तीसगढ राजभाषा से सम्मानित डा० गीता शर्मा को ‘लेखक श्री’ सम्‍मान और ‘विद्यासाग’ मानद सम्‍मान

छत्तीसगढ़ ब्यूरो। शिवमहापुराण और इशादी नौ उपनिषदों जैसे उत्‍कृष्‍ट ग्रथों का छत्तीसगढी भाषा मे अनुवाद कर,भाषा को राष्ट्रीय और अंतराष्ट्रीय पटल पर सम्मानित कर, उसका मान बढाने वाली डा० गीता शर्मा को ,जगदलपुर में ‘लेखकश्री’ अकादमी पुरस्‍कार से सम्मानित किया गया।उनका आलेख worldwide portal मे प्रकाशित भी हुआ है। सामाजिक विज्ञान एवं शोध संस्‍थान इलाहाबाद […]

0Shares
Continue Reading

सियासत में साहित्य के स्वर

-गिरीश पंकज साहित्य हमारे जीवन को कितना प्रभावित करता है इसे समझने के लिए आए दिन हम उन घटनाओं को याद कर सकते हैं, जिनमें सामान्य से सामान्य व्यक्ति भी अपनी बात की पुष्टि करने के लिए कई बार शेरो शायरी, दोहे,चौपाई का सहारा लेता रहता है ।और राजनीति में तो अनेक बार नेता कविता […]

0Shares
Continue Reading

मितान यानी हर सुख-दुख का साथी…

-रायपुर से संजीव शर्मा भारत में फ़्रेंडशिप डे मनाने की प्रथा भले आज चलन में आई हो छत्तीसगढ़ में मित्र बनाने और मित्रता निभाने की एक लंबी सांस्कृतिक परम्परा रही है. फ़्रेंडशिप डे तो एक दिन का मामला है लेकिन छत्तीसगढ़ की यह परंपरागत मित्रता ऐसी होती है कि इसके आगे ख़ून के रिश्ते फीके […]

0Shares
Continue Reading